भारत एशियाड में 28 साल में पहली बार पुरुष कबड्डी में सोना नहीं जीत सका, कांस्य से करना पड़ा संतोष

uploaded on : 2018-08-23

जकार्ता (इंडोनेशिया) // भारत 18वें एशियाई खेलों में गुरुवार को पुरुष कबड्डी के सेमीफाइनल में ईरान से 18-27 से हार गया। 28 साल में यह पहली बार है, जब भारतीय टीम स्वर्ण पदक जीतने से चूकी है। एशियाई खेलों में कबड्डी को 1990 में शामिल किया गया था। तब से लेकर 2014 इंचियोन एशियाड तक भारतीय पुरुष टीम ने स्वर्ण पदक ही जीता था, लेकिन इस बार वैसी ही उपलब्धि हासिल करने का उसका सपना टूट गया। सेमीफाइनल हारने के कारण अब उसे कांस्य पदक मिलेगा। उधर, भारतीय महिलाओं ने लगातार तीसरा स्वर्ण हासिल करने की उम्मीदें कायम रखीं। उन्होंने सेमीफाइनल में चीनी ताइपे को 27-14 से हराकर फाइनल में जगह बनाई। 
 
 
 
अच्छी शुरुआत के बाद हारी भारतीय पुरुष कबड्डी टीम : पहले हाफ में भारत ने सकारात्मक शुरुआत की और 6-1 की बढ़त बनाई। इसके बाद ईरान ने शानदार डिफेंस का प्रदर्शन करते हुए दमदार सुपर टैकल किए। नतीजा यह रहा कि पहला हाफ 9-9 की बराबरी पर छूटा। दूसरे हॉफ में भारत ने 14-11 से शुरुआती बढ़त बनाई, लेकिन ईरान के डिफेंस ने दुनिया के सबसे बेहतरीन अटैक को नाकाम करते हुए मुकाबले को 26-14 से अपने नाम किया। फाइनल में ईरान का मुकाबला दक्षिण कोरिया से होगा। कोरिया ने दूसरे सेमीफाइनल में पाकिस्तान को हराया। 
 
अंकिता रैना महिला टेनिस सिंगल्स में हारीं : इससे पहले गुरुवार सुबह भारत की अंकित रैना टेनिस में महिला सिंगल्स के सेमीफाइनल में हार गईं, लेकिन कांस्य पदक पक्का कर लिया। टेनिस में सेमीफाइनल हारने वाले दोनों खिलाड़ियों को कांस्य पदक दिया जाता है। सेमीफाइनल मुकाबले में चीन की सुआई झेंग ने अंकिता को सीधे सेटों में 6-4, 7-6 से हरा दिया। पुरुष डबल्स में रोहन बोपन्ना और दिविज सरन की जोड़ी फाइनल में पहुंची। दोनों ने सेमीफाइनल में जापान के काइतो युसुगी और शू शिमाबुकुरो की जोड़ी को 4-6, 6-3, 10-8 से हराया। 
 
महिला सिंगल्स में भारत को 8 साल बाद पदक : भारत को टेनिस के महिला सिंगल्स में 8 साल बाद कोई पदक मिला है। पिछली बार 2010 दोहा एशियाई खेलों में सानिया मिर्जा ने कांस्य पदक जीता था। हालांकि, महिला डबल्स में 2014 इंचियोन एशियाड में सानिया मिर्जा और प्रार्थना थोम्बरे की जोड़ी ने कांस्य जीता था। 
 
टाइब्रेकर में हुआ मैच का निर्णय : अंकिता ने पहले सेट की दमदार शुरुआत की, लेकिन पहले तीन गेम जीतने के बाद उन्होंने अपनी लय खो दी। इसके बाद चीन की खिलाड़ी ने 6-4 से सेट जीत लिया। दूसरे सेट में दोनों खिलाड़ियों के बीच कड़ी टक्कर देखने को मिली। मुकाबला टाई-ब्रेकर तक गया जहां झेंग ने शानदार खेल दिखाया और सेट को 7-6 से जीतते हुए मैच अपने नाम किया।