अटलजी की अस्थियां गोमती में विसर्जित; वो किसी दल नहीं दुनिया के नेता: मुलायम, राजबब्बर बोले- उन्होंने प्रधानमंत्री पद की गरिमा को बड़ा किया

uploaded on : 2018-08-24 09:23:29

लखनऊ //   पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की याद में गुरुवार को राजधानी लखनऊ के झूलेलाल वाटिका में सर्वदलीय शोक सभा आयोजन किया गया।  अटलजी के परिवार के लोगों ने गोमती नदी में वैदिक मंत्रोच्चार के साथ अस्थियों को विसर्जित किया। गृहमंत्री राजनाथ सिंह दिल्ली से अस्थि कलश लेकर लखनऊ एयरपोर्ट पहुंचे थे जहां मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ समेत प्रदेश सरकार के कई मंत्रियों ने कलश स्वीकार किया। 
तीन जगह से अटलजी ने लड़ा था चुनाव: सर्वदलीय शोकसभा को संबोधित करते हुए राज्यपाल राम नाईक ने कहा, अटलजी ने 1957 के लोकसभा चुनाव में जनसंघ से यूपी के तीन स्थानों से चुनाव लड़ा था। वह पहली बार बलरामपुर से जीत कर संसद पहुंचे थे। वो एक महान व्यक्तित्व वाले नेता थे। राजबब्बर ने कहा, अटलजी ने प्रधानमंत्री पद की गरिमा को बड़ा किया। उनके आचरण में कभी सियासत नहीं थी। यही कारण था कि पंडित नेहरू ने कहा था कि तुम एक दिन देश के प्रधानमंत्री बनोगे। सभा को संबोधित करते हुए मौलाना फरंगी महली ने कहा, 'अटलजी एक महान शख्सियत की। हमें गर्व है कि वो लखनऊ से सांसद बनकर देश के प्रधानमंत्री बने।' केशव प्रसाद मौर्य ने कहा, अटलजी ने बारे में कुछ कहने के लिए नहीं है। वहीं, दिनेश शर्मा ने कहा, अटलजी लखनऊ के कण-कण में समाए हुए हैं। महेन्द्र नाथ पांडेय ने सभा को संबोधित करते हुए कहा कि, मैं उन सभी लोगों की तरफ से अटलजी को श्रद्धांजलि अर्पित करता हूं जो इस समय की कमी के कारण मंच पर बोल नहीं पाए।

 

महान नेता थे अटलजी: मुलायम सिंह ने कहा, अटलजी पार्टी या हिन्दुस्तान के नहीं थे बल्कि वो पूरी दुनिया के नेता थे। आज वो हमारे बीच नहीं हैं लेकिन उनकी विचारधारा हम लोगों के बीच हमेशा रहेगी। वो सभी का आदर और सम्मान करते थे। मैंने उनसे बहुत कुछ सीखा था वो दल से बड़े हो गए थे उनके लिए देश के अलावा कुछ नहीं है। सभी दल के नेता उनका सम्मान करते थे अमेरिका जैसे देश ने उनके निधन पर एक दिन का शोक मनाया यह हमारे लिए गर्व की बात है। अक्सर मुझको खाने पर बुलाया करते थे। सभी दलों के साथ एक जैसा व्यवहार करते थे ऊंच-नीच का भेदभाव कभी नहीं करते थे।

 

पैदल चले सीएम योगी समेत सभी मंत्री: सीएम योगी समेत उनकी पूरी कैबिनेट अटल अस्थि कलश यात्रा के दौरान पैदल चलेगी। भाजपा कार्यालय से झूलेलाल वाटिका तक करीब 3.5 किलोमीटर पैदल चलकर सीएम योगी और पूरी कैबिनेट सभा स्थल पहुंची।  अस्थि कलश के साथ गृहमंत्री राजनाथ सिंह, राज्यपाल राम नाईक, दोनों डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य व डॉ दिनेश शर्मा, केंद्रीय मंत्री मनोज सिन्हा व शिवप्रताप शुक्ल और प्रदेश अध्यक्ष डॉ महेंद्रनाथ पांडेय समेत तमाम लोग शामिल हुए। अटलजी को श्रद्धांजलि देने के लिए हर जगह लोगों ने पुष्प वर्षा भी की।