लोकसभा के बाद 18 राज्यों में चुनाव हुए, गुजरात 7वां सबसे कम वोटिंग वाला राज्य

uploaded on : 2017-12-15 07:49:57

अहमदाबाद // गुजरात विधानसभा चुनाव में 182 सीटों के लिए कुल 67.75% वोटिंग हुई। यह पिछले चुनाव से 3.55% कम है। 2012 में 182 सीटों पर 71.30% वोटिंग हुई थी। दूसरे और आखिरी फेज में गुरुवार को 14 जिलों की 93 सीटों पर 68.70% वोटिंग हुई। 2012 में इन 93 सीटों पर कुल 72.6% वोटिंग हुई थी। यह 67.75% वोटिंग राज्य में 12 विधानसभा चुनावों और 55 साल में दूसरी बार सबसे ज्यादा है। सबसे अधिक 77% वोटिंग साबरकांठा और सबसे कम 60% वोटिंग दाहोद जिले में हुई है। शनिवार को पहले फेज में 19 जिलों की 89 सीटों पर करीब 66.75% वोटिंग हुई थी। गुजरात चुनाव के नतीजे 18 दिसंबर को हिमाचल प्रदेश के चुनाव परिणामों के साथ आएंगे। इन 182 सीटों पर 1828 उम्मीदवार मैदान में हैं। करीब 4.35 करोड़ मतदाता थे। 2012 विधानसभा चुनाव में बीजेपी ने 115 और कांग्रेस ने 61 सीटें जीतीं थीं।
अहमदाबाद की 21 सीटों पर कुल मतदान 63%, 2012 में 69.16% हुआ थ
सीट 2012 2017 अंतर सीट 2012 2017 अंतर
घाटलोडिया 71.58% 64.08% -07.05% असारवा 67.24% 71.58% +54.39%
बेजलपुर 70.52% 70.58% -01.51% बापूनगर 67.15% 71.58% +54.39%
वटवा 68.82% 70.58% +54.39% अमराईवाड़ी 65.59% 71.58% +54.39%
एलिसब्रिज 67.03% 71.58% +54.39% दरियापुर 70.09% 71.58% +54.39%
नारणपुरा 50.00% 71.58% +54.39% जमालपुर-खडिया 67.76% 71.58% +54.39%
निकोल 67.53% 71.58% +54.39% मणिनगर 69.44% 71.58% +54.39%
ठक्करबापा नगर 68.10% 71.58% +54.39% दाणीलिमड़ा 69.99% 71.58% +54.39%
साबरमती 69.60% 71.58% +54.39% नरोडा 64.93%
71.58%
+54.39%
// 2014 लोकसभा चुनाव के बार गुजरात 18वां राज्य है, जहां वोटिंग हुई। इनमें यह 7वां सबसे कम वोटिंग वाला राज्य है।
// इससे कम वोटिंग, उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, बिहार, महाराष्ट्र, दिल्ली, जम्मू-कश्मीर, झारखंड में हुई है। लोकसभा चुनाव के बाद 5 राज्यों में 80% से ज्यादा वोटिंग हुई है।
// सबसे ज्यादा 85.87% वोटिंग मणिपुर में और असम में 84.49% हुई है।
सबसे ज्यादा वोटिंग वाले- 5 राज्य
मणिपुर 85.87%
असम 84.49%
पुड्‌डुचेरी 84.03%
प.बंगाल 82.68%
गोवा 81.21%
गुजरात 67.58%
पिछले 7 चुनाव, वोटिंग %, सीटें
साल  वोटिंग% बीजेपी कांग्रेस   अन्य
 
1985  48.82 11        149         22
1990   52.20      67 33           82
1995    64.39    121       45           16
1998 59.30    117       53           12
2002    61.54    127       51 04
2007    59.77    117       59           08
2012    71.30 115 61           06
14 में से सिर्फ 2 जिलों में 75% से ज्यादा वोटिंग
// दूसरे फेज में 8 जिलों में पिछले चुनाव से कम वोटिंग हुई है। पिछली बार यहां 11 जिलों में वोटिंग हुई थी। इस बार तीन नए जिले जुड़े हैं।
// दूसरे फेज में तीन जिलों में पिछली बार से ज्यादा वोटिंग हुई है। ये जिले सांबरकांठा, वडोदरा, मेहसाणा हैं। 
// दूसरे फेज के 14 में से सिर्फ दो जिलों में 75 फीसदी से ज्यादा वोटिंग हुई है। 
// सात जिले ऐसे हैं, जिनमें 70 या उससे कम वोटिंग हुई है।
पास नेता हार्दिक पटेल ने किया मतदान
// पाटीदार आरक्षण आंदोलन समिति के नेता हार्दिक पटेल ने अपने गृहनगर अहमदाबाद जिले के विरमगाम में मतदान किया। हार्दिक ने विरमगाम के कुमार स्कूल में बने मतदान केंद्र पर वोट डाला।
// उनकी मां ऊषाबेन, बहन मोनिका और अन्य परिजनों ने भी यहां मतदान किया।
// बता दें कि विरमगाम सीट पर पिछली बार कांग्रेस की विधायक रही तेजश्रीबेन पटेल इस बार बीजेपी की कैंडिडेट हैं।
// इससे पहले ओबीसी नेता और राधनपुर के कांग्रेस कैंडिडेट अल्पेश पटेल ने भी विरमगाम में अपने पैतृक गांव एंदला में वोट डाला था।
32 साल में वोटिंग प्रतिशत बढ़ने पर बीजेपी और कम होने पर कांग्रेस को फायदा हुआ
गुजरात में हुए पिछले 7 विधानसभा चुनावों का आंकलन करें, तो 2012 के विधानसभा चुनाव कों छोड़ दें, तो हर चुनाव में वोटिंग प्रतिशत बढ़ने पर बीजेपी को फायदा हुआ है। उसकी सीटें वोटिंग प्रतिशत बढ़ने पर और बढ़ी हैं। 2012 में 2007 विधानसभा चुनाव से करीब 12% ज्यादा वोटिंग हुई थी। हालांकि इस बार बीजेपी की सीटें 2007 के चुनाव से 2 कम हो गईं थीं। 2012 में बीजेपी को 182 में से 115 और 2007 में उसकी 117 सीटें थीं। इसी तरह यदि 2012 को छोड़ दिया जाए तो जब वोटिंग प्रतिशत कम हुआ है, तब कांग्रेस की सीटें बढ़ी हैं। 2007 में 59% वोटिंग होने पर कांग्रेस को 59 और 2012 में 71% वोटिंग होने पर 61 सीटें मिलीं थीं।
आणंद में 22 साल बाद मतदान में गड़बड़ी करने के इरादे से पथराव, एक घायल
आणंद जिले में 22 साल बाद मतदान में गड़बड़ी करने से इरादे से कांग्रेस समर्थकों द्वारा मानीया की खाड़, टावर बाजार, गामडीवड और डीएन हाईस्कूल में हथियार के साथ हमला करते हुए पथराव करने से भगदड़ मच गई। पथराव में आणंद नगरपालिका अध्यक्ष के पति गंभीर रूप से घायल हो गए। उन्हें इलाज के लिए निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। उपद्रवियों ने पांच कार, एक रिक्शा, चार बाइक और बीजेपी के चुनाव कार्यालय के पास तोड़फोड़ की। घटना की जानकारी मिलते ही पुलिस का काफिला मौके पर पहुंचकर मोर्चा संभाल लिया।