ब्रिटिश पीएम थेरेसा मे की हत्या की साजिश नाकाम, फिदायीन हमले का था प्लान; 2 अरेस्ट

uploaded on : 2017-12-06 15:00:25

लंदन // ब्रिटिश पीएम थेरेसा मे को मारने की साजिश को सुरक्षा एजेंसियों ने नाकाम कर दिया। मामले में 2 आरोपियों 20 साल के नईमुर जकारिया रहमान और 21 साल के आकिब इमरान को अरेस्ट किया गया है। न्यूज एजेंसी रॉयटर्स के मुताबिक, मे को मारने के लिए इम्प्रोवाइज्ड एक्सप्लोसिव डिवाइस (IED) के जरिए 10, डाउनिंग स्ट्रीट (ब्रिटिश पीएम का आवास) पर फिदायीन हमला किया जाना था। शोरगुल के दौरान थेरेसा पर हमला कर उन्हें मार दिया जाता। मे के स्पोक्सपर्सन ने बताया कि बीते 12 महीने में ब्रिटेन में 9 साजिशों को नाकाम किया गया है।

लंबे वक्त से टारगेट पर हैं थेरेसा
// स्काई न्यूज के मुताबिक, थेरेसा मे लंबे वक्त से टेररिस्ट्स के निशाने पर हैं। इसके चलते 10, डाउनिंग स्ट्रीट पर किलेनुमा गेट लगाए गए हैं और सिक्युरिटी में भी इजाफा किया गया है।
// 1970 के दशक में ब्रिटिश पीएम के लिए सुरक्षा मानदंडों को लाया गया था, लेकिन 1980 के दशक में आइरिश रिपब्लिकन ग्रुप्स की तरफ से मिल रही धमकियों के बाद सुरक्षा बढ़ाई गई। 
// 1991 में आइरिश रिपब्लिकन आर्मी ने 10, डाउनिंग स्ट्रीट पर मोर्टार से हमला किया था। बम आवास के पिछले हिस्से में गिरा। तब पीएम रहे जॉन मेजर घर में ही थे, लेकिन उन्हें कोई नुकसान नहीं हुआ।
ब्रिटेन में हुए आतंकी हमले
// इसी साल मार्च में खालिद मसूद नाम के शख्स ने वेस्टमिंस्टर ब्रिज के पास पैदल चलने वालों पर कार चढ़ा दी थी। उसने पार्लियामेंट की सुरक्षा में तैनात एक सुरक्षाकर्मी को भी मार दिया था। हमले में 5 लोग मारे गए थे।
// मई में मैनचेस्टर एरीना के एक कॉन्सर्ट में हुए हमले में 22 लोग मारे गए थे। मई में ही नॉर्थ लंदन की एक मस्जिद में हुए हमले में एक शख्स की मौत हो गई।
// अगस्त में बकिंघम पैलेस के पास तलवार लिए एक शख्स को अरेस्ट किया गया था। ये शख्स 'अल्लाह-हु-अकबर' के नारे लगा रहा था। 
// सितंबर में पार्संस ग्रीन स्टेशन पर ट्यूब ट्रेन में ब्लास्ट की कोशिश कोे नाकाम कर दिया गया।
4 साल में ब्रिटेन में 22 आतंकी साजिश
// ब्रिटेन में बीते 4 साल में सिक्युरिटी एजेंसियों ने 22 आतंकी साजिशों को नाकाम किया है। इन्हें लेकर 500 लाइव इन्वेस्टिगेशन चल रही हैं। आतंकी गतिविधियों में संदिग्ध 20 हजार लोगों की पहचान की गई है।
// ब्रिटेन में बीते एक साल में आतंकी गतिविधियों के चलते 36 लोगों को जान गंवानी पड़ी।
क्या कहते हैं MI5 चीफ?
// ब्रिटिश खुफिया एजेंसी MI5 के चीफ एंड्रयू पार्कर ने मंगलवार को आतंकी खतरे के मद्देनजर कैबिनेट मिनिस्टर्स को ब्रीफ किया।
// पार्कर ने कहा कि मेरे 34 साल के करियर में यूके में इस वक्त सबसे ज्यादा आतंकी खतरा है।