एलडीए ने सील की बिल्डिंग पर भूल गई ये बात, पिछले दरवाजे से चलने लगा होटल

uploaded on : 2017-11-21 13:52:37

लखनऊ //  एलडीए द्वारा सील की गई कई बिल्डिंग्स में अब भी व्यवसायिक प्रतिष्ठान संचालित किए जा रहे हैं। कहीं होटल चल रहे हैं तो कहीं बिक्री के लिए फ्लैट्स की बुकिंग। एलडीए के अभियंताओं और बिल्डर्स की मिलीभगत से राजधानी की कई बिल्डिंग्स सील होने के बाद भी खुली हैं। आवासीय क्षेत्रों में लगातार व्यावसायिक गतिविधियां बढ़ रही हैं। जिसके चलते वहां रहने वाले लोगों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। अवैध निर्माण और आवासीय बिल्डिंग के व्यावसायिक प्रयोग जैसी तमाम शिकायतें एलडीए पहुंच रही हैं। लेकिन प्राधिकरण के अभियंताओं और बिल्डर्स की मिलीभगत के चलते लगातार नियमों की धज्जियां उड़ाई जा रही हैं।
केस 1//
राजधानी के गाजीपुर थाना क्षेत्र में लक्ष्मणपुरी के प्लॉट नं- 45 में चल रहा अवैध निर्माण एलडीए के वीसी प्रभुनारायण सिंह ने सील करा दिया था। यह इलाका LDA के जोन एक के अंतर्गत आता है। उस समय जोन-1 के तत्कालीन इंचार्ज रहे बीपी सिंह रैकवार ने वीसी के निर्देश पर उस अवैध निर्माण को सील किया था। सील होने के बाद इस बिल्डिंग का निर्माण कुछ ही दिन बंद रहा जिसके बाद फिर से रसूखदार बिल्डर ने काम शुरू करा दिया। लोगों की माने तो उसने LDA के अधिकारियों को मैनेज कर के कन्स्ट्रक्शन पूरा करा लिया। अब 5 फ्लोर का यह भवन बन कर पूरी तरह से तैयार हो गया है। इसमें 20 फ्लैट्स भी बन कर तैयार हो गए हैं।
केस 2  // 
निरालानगर स्थित होटल डी-ग्लोबल पार्क में स्वीकृत मानचित्र के विपरीत निर्माण किए जाने की शिकायत पर अधिकारी द्वारा 31 अक्टूबर 2017 को बिल्डिंग को सील करने के निर्देश दिए गए थे । एलडीए के अभियंताओं ने होटल डी-ग्लोबल पार्क को सील कर दिया गया था। कार्रवाई के दौरान केवल एक दरवाजा सील किया गया जबकि यहां तीन दरवाजे हैं। मिलीभगत के चलते एलडीए के आधा दर्जन अभियंता, सुपरवाइजर समेत स्थानीय पुलिस को दो अन्य दरवाजे नजर नहीं आए। अभियंताओं ने एक दरवाजा सील करते हुए दिखावे की कार्रवाई की। लिहाजा होटल संचालक दूसरे दरवाजे से होटल की बुकिंग से लेकर अन्य व्यवसायिक संचालन करता रहा। मामला मीडिया में आने के बाद अफसर एक्टिव हुए । अपनी छवि बनाने के लिए अभियंताओं ने आनन-फानन में स्थानीय थाने में एफआईआर दर्ज करने के लिए अप्लीकेशन दी। लेकिन होटल का व्यवसायिक उपयोग अभी तक बंद नहीं हुआ है।
केस 3 // 
निराला नगर में ही मानसरोवर रेस्टोरेंट के पास एक बहुमंजिला इमारत का निर्माण कर लिया गया है। यहां दो भूखंडों को जोडक़र निर्माण किया जा रहा है। इस भूखंड के अगले हिस्से का मानचित्र एलडीए से स्वीकृत है। इस भूखंड के ठीक पीछे वाले भूखंड को भी इसी में जोड़ लिया गया है। दोनों ही भूखंड़ों में एक साथ निर्माण किया जा रहा है। इसके अलावा होटल डी ग्लोबल पार्क के बगल से जा रही सडक़ पर भी धड़ल्ले से बहुमंजिला इमारत का निर्माण जारी है। इस बहुमंजिली इमारत का निर्माण भी दो भूखंडों को जोडक़र बनाया गया है। इस पर बी ही एलडीए कोई कार्रवाई नही कर पा रहा है।
क्या कहते हैं अधिकारी
इस मामले में सचिव एलडीए मंगला प्रसाद सिंह ने बताया कि अभी इस तरह का मामला संज्ञान में नही आया था। इस मामले की जांच कराई जाएगी। अगर किसी बिल्डिंग में सीलिंग के बाद भी व्यसायिक प्रतिष्ठान चलते पाए गए तो उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। इसके अतिरिक्त यदि इसमें विभागीय लोग भी जिम्मेदार पाए गए तो उनके खिलाफ भी कार्रवाई होगी।