राजस्थान, एमपी और पंजाब में रिलीज नहीं होगी पद्मावती, विरोध-प्रदर्शन जारी

uploaded on : 2017-11-21 13:08:13

जयपुर/भोपाल/चंडीगढ़ // संजय लीला भंसाली की फिल्म पद्मावती को अभी सेंसर बोर्ड ने भी पास नहीं किया है। लेकिन सोमवार को राजस्थान सहित 3 राज्यों मप्र और पंजाब ने भी प्रदर्शन पर बैन लगा दिया। मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने कहा कि कानून व्यवस्था को सुनिश्चित रखना राज्य की पहली प्राथमिकता है और इसे हर साल में बहाल रखा जाएगा। जब तक केंद्रीय सूचना और प्रसारण मंत्री स्मृति ईरानी को 18 नवंबर को लिखे पत्र में दिए गए मेरे सुझावों पर अमल नहीं हो जाता तब तक राजस्थान में फिल्म पद्मावती का प्रदर्शन नहीं होगा। राजे ने सुझाव दिया था कि इतिहासकारों और समाज के प्रतिनिधियों की समिति द्वारा फिल्म पद्मावती की समीक्षा कर यह सुनिश्चित किया जाए कि राजपूत समाज की भावनाएं आहत न हों। इससे पहले उप्र भी निकाय चुनाव का हवाला देते हुए पद्मावती के प्रदर्शन पर अघोषित रोक लगा चुका है।
मप्र : शिवराज बोले- ‘राष्ट्रमाता’ पद्मावती के खिलाफ बनी फिल्म का मप्र में प्रदर्शन नहीं होगा
ऐतिहासिक तथ्यों से खिलवाड़ कर अगर राष्ट्रमाता पद्मावती के सम्मान के खिलाफ जिस फिल्म में दृश्य दिखाया गया है या बात कही गई है। तो उस फिल्म का प्रदर्शन मध्य प्रदेश की धरती पर नहीं होगा।’ -शिवराज सिंह चौहान, मुख्यमंत्री, मध्य प्रदेश (राजपूत समाज प्रतिनिधिमंडल से मुलाकात के बाद)
पंजाब : कैप्टन अमरिंदर सिंह बोले- किसी को इतिहास तोड़ने-मरोड़ने का हक नहीं
जो फिल्म इतिहास से छेड़छाड़ करती है उसे राज्य में रिलीज नहीं होने दिया जाएगा। जो लोग इसके खिलाफ प्रदर्शन कर रहे हैं वे ठीक ही कर रहे हैं।- कैप्टन अमरिंदर सिंह, मुख्यमंत्री, पंजाब
कुछ लोग पैसा देकर हिंदुओं की भावनाओं को आहत करने वाली फिल्में बनवाते हैं : स्वामी
भाजपा नेता डॉ. सुब्रह्मण्यम स्वामी ने सोमवार को जयपुर में कहा कि फिल्म पद्मावती की मंशा देश के इतिहास से छेड़छाड़ करने की है। ये कहने में कतई गुरेज नहीं कि कुछ लोग पैसा देकर ऐसी फिल्में बनवाते हैं। जिनसे हिंदुओं की भावनाओं से छेड़छाड़ की जा सके। कुछ साल पहले आई फिल्म पीके में भी कुछ ऐसा किया गया। ऐसा गलत है।
दीपिका, भंसाली का सिर काटने पर 10 करोड़ का एलान करने वाले अम्मू को बीजेपी का नोटिस
बीजेपी ने हरियाणा बीजेपी के चीफ मीडिया को-ऑर्डिनेटर कुंवर सूरजपाल अम्मू को कारण बताओ नोटिस जारी किया है। अम्मू ने दीपिका और भंसाली का सिर काट कर लाने वाले को 10 करोड़ का ईनाम घोषित किया था।

सुप्रीम कोर्ट: रिलीज रोकने पर सुनवाई से इनकार
सुप्रीम कोर्ट ने फिल्म से कुछ कथित आपत्तिजनक दृश्य हटाने के लिए दायर याचिका सोमवार को खारिज दी है। सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि सेंसर बोर्ड ने अभी कोई निर्णय नहीं लिया है। ऐसे में कोर्ट दखल नहीं दे सकता और ये एक तरह प्री जजमेंट की तरह होगा। सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि अभी यह मामला प्री-मैच्योर है।
सेंसर बोर्ड: फिल्म को जल्द मंजूरी की मांग खारिज
पद्मावती के सर्टिफिकेशन की प्रक्रिया में तेजी लाने की फिल्म निर्माताओं की मांग को सेंसर बोर्ड ने खारिज कर दिया है। सेंसर बोर्ड का कहना है कि पद्मावती की तय नियमों और आवेदनों की क्रम संख्या के मुताबिक ही समीक्षा की जाएगी। पहले पद्मावती 1 दिसंबर को रिलीज होनी थी, लेकिन निर्माता ही इस तारीख से पीछे हट चुके हैं।