uploaded on : 2017-06-19 13:33:01

स्पोर्ट्स डेस्क. टीम इंडिया को 180 रन से हराकर पाकिस्तान ने पहली बार चैम्पियंस ट्रॉफी पर कब्जा कर लिया। विराट कोहली ने फाइनल में टॉस जीतकर पहले बॉलिंग का फैसला लिया। पाकिस्तान ने 50 ओवर में 4 विकेट खोकर 338 रन बनाए। चौथे ओवर में जसप्रीत बुमराह की बॉल पर फखर जमान विकेट के पीछे धोनी को कैच दे बैठे, लेकिन ये नो-बॉल हो गई। उस वक्त जमान महज 3 रन पर खेल रहे थे। नो बॉल फेंकना टीम इंडिया के लिए बड़ी गलती साबित हुआ। जमान ने इसका फायदा उठाया और करियर की पहली सेन्चुरी लगाई। इसके बाद का मुकाबला एकतरफा ही नजर आया। बड़े टारगेट का पीछा करते हुए टीम इंडिया 30.3 ओवर में 158 रन पर ऑल आउट हो गई। मोहम्मद आमिर और हसन अली ने 3-3 विकेट लिए। इन PAK प्लेयर्स ने दिलाई जीत...

अजहर अलीः59 रन बनाए। फखर जमान के साथ पहले विकेट के लिए 128 रन की पार्टनरशिप की। इससे टीम बड़े टोटल तक पहुंची। 
फखर जमानः114 रन बनाए 106 बॉल में। टीम के टॉप स्कोरर।
मोहम्मद हाफीजः 5वें नंबर पर बैटिंग करते हुए 57* रन बनाए और टीम का स्कोर 300+ ले गए।
मोहम्मद आमिरः 16 रन देकर 3 विकेट लिए। रोहित, विराट और शिखर को आउट किया।
हसन अलीः19 रन देकर 3 विकेट लिए।
भारत की 39 साल की सबसे बड़ी हार
1978 से भारत-पाक वनडे खेल रहे हैं। वनडे में 39 साल में यह भारत की सबसे बड़ी हार है। बता दें कि भारत-पाक किसी आईसीसी टूर्नामेंट के फाइनल में 10 साल बाद अामने-सामने थे। इससे पहले 2007 के चैम्पियंस ट्रॉफी फाइनल में भारत ने पाक को हराया था।
इंडिया की हार की 5 वजहें

 


1) इंडियन बॉलर्स जल्द नहीं दिला पाए ब्रेक थ्रू
-जसप्रीत बुमराह, आर अश्विन, रवींद्र जडेजा और हार्दिक पंड्या जैसे स्पेशलिस्ट इंडियन बॉलर्स शुरुआत में विकेट ही नहीं ले सके। मैच में शुरू से ही पाक बैट्समैन हावी रहे और पहले विकेट के लिए ही सेन्चुरी पार्टनरशिप हो गई। इसके अलावा पाकिस्तान ने दूसरे विकेट के लिए 72 और 5वें विकेट के लिए 71* रन की साझेदारी भी की।

 

2) कई आसान मौके गंवाए
- पूरे टूर्नामेंट की तरह फाइनल में भी टीम इंडिया की फील्डिंग खराब रही। 12वें ओवर तक भारत ने दो रन आउट और एक आउट का मौका गंवा दिया था। टीम के लिए सबसे बड़ा झटका जसप्रीत बुमराह की वो नो बॉल रही, जिसमें उन्होंने सेन्चुरी लगाने वाले फखर जमान का विकेट ले लिया था।
- ये इंसीडेंट पाकिस्तान की इनिंग के चौथे ओवर में हुआ, जब बुमराह ने अपने ओवर की दूसरी बॉल पर जमान को विकेट के पीछे धोनी के हाथों कैच आउट करवा दिया, लेकिन ये नो बॉल निकली और जमान आउट नहीं हुए। इस जीवनदान के वक्त वो 3 रन बनाकर खेल रहे थे। बाद में उन्होंने 114 रन की इनिंग खेली।

 

3) भुवनेश्वर को छोड़ सभी इंडियन बॉलर रहे फ्लॉप
- पाकिस्तान के खिलाफ भुवनेश्वर कुमार को छोड़ दिया जाए तो सभी इंडियन बॉलर्स फ्लॉप रहे। भुवनेश्वर ने 10 ओवर में 44 रन देकर 1 विकेट लिया। उन्होंने 2 मेडन ओवर भी किए। उनका इकोनॉमी रेट सबसे किफायती 4.40 रहा।
ऐसा रही बाकी इंडियन बॉलर्स की परफॉर्मेंस
बॉलर    ओवर    मेडन    रन    विकेट    इकोनॉमी
जसप्रीत बुमराह    9    0    68    0    7.55
आर. अश्विन    10    0    70    0    7.00
हार्दिक पंड्या    10    0    53    1    5.30
रवींद्र जडेजा    8    0    67    0    8.37
केदार जाधव    3    0    27    1    9.00

 

4) टॉप ऑर्डर फ्लॉप रहा
- 339 रन के टारगेट का पीछा करते हुए रोहित शर्मा, शिखर धवन, विराट कोहली, युवराज सिंह और एमएस धोनी जैसे दिग्गजों से भरा टीम इंडिया का टॉप ऑर्डर सुपर फ्लॉप रहा। उसके 5 विकेट 54 रन पर ही गिर गए थे। इन पांच में से सबसे ज्यादा 22 रन युवराज सिंह ने बनाए।
- अंत में हार्दिक पंड्या ने जरूर अच्छी बैटिंग की और 43 बॉल में 76 रन बनाए। अपनी इनिंग में उन्होंने 4 चौके और 6 छक्के लगाए।
टॉप 5 इंडियन बैट्समैन के स्कोर
प्लेयर    रन    बॉल    4    6
रोहित शर्मा    0    3    0    0
शिखर धवन    21    22    4    0
विराट कोहली    5    9    0    0
युवराज सिंह    22    31    4    0
एमएस धोनी    4    16    0    0

 

5) मोहम्मद आमिर और हसन अली की अटैकिंग बॉलिंग
- पाकिस्तान के लिए मोहम्मद आमिर मैच विनिंग बॉलर रहे। आमिर ने ही टीम इंडिया के पहले तीन विकेट चटकाए, जिसमें रोहित शर्मा, शिखर धवन और विराट कोहली शामिल रहे। आमिर ने 6 ओवर में 16 रन देकर तीन विकेट लिए। 2 मेडन ओवर के साथ उनकी इकोनॉमी 2.66 की रही।
- हसन अली ने भी 3 विकेट लिए और टीम इंडिया को 30.3 ओवर में समेटने में अहम भूमिका निभाई। अली ने 6.3 ओवर बॉलिंग करते हुए सिर्फ 19 रन दिए। उन्होंने भी 1 मेडन ओवर किया। 2.92 का इकोनॉमी रेट रहा।